Vo Puchti Hai

Vo Puchti Hai

वो पूछती है,मैं उसे इतना प्यार क्यों करता हूँ?
मैंने कहा,एक तमन्ना है तुम्हे पाने की!
वो पूछती है, हर वक्त उदास क्यू रहते हो ?
मैंने कहा,कोशिश है तुम्हे हर ख़ुशी दिलाने की!
वो कहती है, हर वक्त सोचते क्यूँ रहते हो?
मैंने कहा,आदत हो गयी है तुम्हे ख्यालो मैं अपना बनाने की!
वो कहती है,मैं ना मिली तो?
मैंने कहा, तो तमन्ना है ज़िन्दगी मिटने की!
वो कहती है, तुम्हे क्या मिलेगा मर कर?
मैंने कहा, एक उम्मीद अगले जन्म  मे तुम्हे अपना बनाने की!

RAKSHIT YADAV 
Bjmc 1st Year

LATEST from Blog
Apply for Admission
TOP